PLUS MINUS WHAT...!

Saturday, July 7, 2012

कर्बला कि कहानी पर फिल्म

कर्बला कि कहानी किसी आम आदमी की कहानी नहीं है | ये एक दुखद ऐतिहासिक  लड़ाई है जो अनंत काल तक मानवों को यह सन्देश देगी कि कभी आतंक कि सामने सर न झुकाना | इस ऐतिहासिक लड़ाई पर फिल्म बनाना ठीक नहीं है क्योंकि इस लड़ाई के सभी पात्र दैवीय थे जिन्होंने आम इंसान कि तरहाँ कर्बला के रेगिस्तान में आतंक के अत्याचार का सामना किया और इमाम हुसैन (अ॰स॰) ने अपना पूरा घर नष्ट होने दिया ताकि इंसानियत ज़िंदा रहे |

भारत से इमाम हुसैन (अ॰स॰) को प्रेम था और इस लेख में आप पढ़े कि कर्बला क्या है और इस ऐतिहासिक लड़ाई का क्या कारण था | फिर आप चिंतन करें कि इस पर फिल्म बनाना ठीक है या नहीं ? याद रखें के इस्लाम में किसी भी दैवीय शक्ति का कोई रूप नहीं है, फिर फिल्म में सारे किरदार कैसे बन सकते हैं...












KARBALA film BAN | Online Petition
GoPetition

No comments:

Post a Comment